100 से ज्यादा रहा औसत, टीम में नहीं मिली जगह तो इस क्रिकेटर का फूटा गुस्सा

आगामी प्रतियोगिताओं के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने हाल ही में भारतीय टीमों का चयन किया, जिससे बंगाल क्रिकेट टीम के बल्लेबाज मनोज तिवारी बेहद खफा हैं। बोर्ड द्वारा चुनी गई छह में से किसी भी टीम में मनोज को जगह नहीं मिली है। बीसीसीआई द्वारा दक्षिण अफ्रीका-ए के खिलाफ चार दिवसीय मैच, दिलीप ट्रॉफी और दक्षिण अफ्रीका-ए और ऑस्ट्रेलिया-ए के साथ खेले जाने वाली सीरीज के लिए इंडिया-ए और इंडिया-बी टीमों की घोषणा की गई है। इनमें से किसी भी टीम में मनोज का नाम नहीं है और इसी पर बंगाल के क्रिकेट खिलाड़ी ने निराशा जताई है।

मनोज ने 2017-18 सीजन में 126.70 की औसत से 507 रन बनाए। यह भारत में घरेलू सीजन में लिस्ट-ए की औसत के तहत सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले स्कोर 400 रन तक का था। उनका इसके साथ ही विजय हजारे और देवधर ट्रॉफी में 100 से अधिक औसत रहा। उनके अलावा किसी अन्य बल्लेबाज ने इस उपलब्धि को हासिल नहीं किया।

अपनी इस निराशा को ट्विटर पर जाहिर कर मनोज ने लिखा, “भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास में कितने ऐसे बल्लेबाज रहे हैं, जिनका विजय हजारे और देवधर ट्रॉफी में 100 से अधिक का औसत रहा है और वह भी एक ही साल में?” मनोज ने कहा, “मुझे यह एहसास हुआ है कि टीम के लिए किए गए आपके काम की पहचान नहीं होती। लोग केवल स्कोरशीट पर नंबर देखना चाहते हैं, लेकिन यह भूल जाते हैं कि हम किस प्रकार की पिच पर खेले हैं और मैच का परिणाम क्या था?”

मनोज तिवारी ने भारत के लिए 12 वनडे और तीन टी-20 मुकाबले खेले हैं। 12 वनडे में उन्होंने एक सतक और एक अर्धशतक के साथ 287 रन बनाए हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 104 रन है, जो उन्होंने 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ चेन्नई में बनाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *