यहाँ हर रोज मौत का सफर तय करते हैं यात्री एआरटीओ विभाग के संरक्षण में चल रहे डग्गामार वाहन पढ़िए लखीमपुर संवाददाता विकास वर्मा के साथ

 जिला लखीमपुर खीरी से जिला संवाददाता विकास वर्मा की रिपोर्ट

लखीमपुर खीरी-जनपद में डग्गामार वाहनों तथा बिना परमिट के चलने वाली सवारी गाडियों से यात्री हर एक दिन मौत का सफर तय करके अपने गंतव्य तक जाते है यह पहली बार नहीं है हर रोज सडकों पर देखने को मिलता है लेकिन जिम्मेदार अधिकारी एआरटीओ पुलिस तथा जिला प्रशासन की लापरवाही से यह वाहन सडकों पर धडल्ले से दौड रहे हैं जिनका किसी की जान से कोई सरोकार नहीं है।तेज गति व परमिट से अधिक सवारियों को भरकर चलना तथा बसों की छतों पर भी यात्रियों को बैठाकर चलना इनकी आदत में सुमार हो गया है।शहर के चारों तरफ मकडजाल की तरह फैले टेक्सी स्टेण्डों से परमिट से अधिक सवारियों को बैठाकर तथा साईडों में सवारियों को लटकाकर ढोया जा रहा है लोग अपनी जान से खिलवाड करके यात्रा करने लगते है और कई हादसों के बाद भी इन अनियन्त्रित सवारी बैठाने वाले वहनों पर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती है जिसका नतीजा यह है कि वाहन चालक थाने चौकियों के सामने से तेज गति तथा ओवरलोड सवारियों को भरकर खुलेआम निकलते रहते है और पुलिस कोई कदम नहीं उठाती है और यदा कदा पुलिस जाँच चलाकर इतिश्री कर लेती जनपद की सडकों पर प्राइवेट बसों की छत पर जान जोखिम में डालकर यात्री बसों में खुलेआम सफर करते हैं।जब बस के अंदर जगह नहीं मिलती है तो वाहन चालक बस के ऊपर छत पर सवारियों को भरते हैं जिससे आए दिन घटना घटित हुआ करती हैं ग्रामीणों ने बताया की यही नहीं प्राइवेट बस निर्धारित गति से न चलकर काफी तेज रफ्तार से दौड़ती हैं और बसों के ड्राइवर राहगीरों को साइड नहीं देते है बल्कि अपनी साइड में चल रहे राहगीरों को ओवरटेक कर उनकी जिंदगी के साथ भी खिलवाड़ करते हैं।प्राइवेट बस पलट जाने के कारण जहां कई यात्रियों को गंभीर चोटें लग जाती है तथा कई की जाने चली जाती है लेकिन इससे परिवहन विभाग के अधिकारियों पर कोई फर्क नहीं पडता है और आम नागरिक अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा भुगत जाता है।प्रशासन ने एक दो दिन के लिए सख्त रवैया अपना कर अपना पल्ला झाड़ लेता है लेकिन आज प्रशासन फिर हादसे का इंतजार कर रहा है शायद इसीलिए इन प्राइवेट बस चालकों की तरफ कोई भी ध्यान नहीं दे रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *