सचिन ने खोला राज, बताया किस गेंदबाज को खेलने से डरते थे वीरेंद्र सहवाग

भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग विस्फोटक अंदाज में बल्लेबाजी करने के लिए जाने जाते रहे हैं। पारी की शुरुआत में ही सहवाग गेंदबाजों पर हावी हो जाया करते थे, वह हर मैच की शुरुआत की पहली गेंद पर चौका लगाने का प्रयास करते थे। सहवाग ने कई बार भारतीय टीम की शुरुआत पहली गेंद पर चौका जड़कर किया है। अपनी बल्लेबाजी से गेंदबाजों में खौफ फैलाने वाले सहवाग को भी एक गेंदबाज से डर लगता था। इस बात का खुलासा पूर्व भारतीय बल्लेबाज और सहवाग के खास दोस्त सचिन ने एक शो के दौरान किया। दरसल, कुछ दिन पहले ही सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग ‘वॉट द डक टॉक शो’ में पहुंचे थे। इस शो में दोनों ही खिलाड़ियों ने पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ से जुड़ी कई बातों का जिक्र किया। इस दौरान सहवाग से बताया कि उन्हें पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज वसीम अकरम के खिलाफ बल्लेबाजी करने में डर लगता था। सहवाग की इस बात पर सचिन ने कहा कि यह सच है वीरू ऐसे गेंदबाजों के खिलाफ स्ट्राइक मुझे पास कर दिया करता था।
सचिन ने सहवाग को लेकर कहा, ”लेफ्ट आर्म तेज गेंदबाजों के खिलाफ वीरू खेलने में थोड़ा असहज महसूस किया करता था। साल 2003 के दौरान पाकिस्तान के खिलाफ सहवाग वसीम अकरम के खिलाफ स्ट्राइक लेना नहीं चाह रहा था। इस वजह से पहली गेंद मुझे खेलने के लिए कह रहा था। अकरम के अलावा ऑस्ट्रेलियाई लेफ्ट आर्म तेज गेंदबाज नाथन ब्रेकन ने भी वीरू को कई दफा अपनी गेंदों से परेशान किया है”।
सहवाग ने कहा, ”मैं अपने करियर में सबसे अधिक बार लेफ्ट आर्म तेज गेंदबाजों के खिलाफ ही आउट हुआ हूं। हर बल्लेबाज की अपनी कुछ खूबियां और कमियां होती है। मुझे लगता है कि लेफ्ट आर्म तेज गेंदबाज को सही तरीके से नहीं खेल पाना मेरी कमियों की गिनती में आती है”। साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सहवाग ने अपना अंतिम टेस्ट मैच खेला था, वहां भी वो बाएं हाथ के गेंदबाजों के खिलाफ संघर्ष करते नजर आए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *