कश्‍मीर के वीडियो पर फूटा गंभीर का गुस्‍सा- 2019 में वही चुनाव लड़ें जो…

कश्मीर के नौहटा इलाके में प्रदर्शनकारियों ने सीआरपीएफ की गाड़ी पर हमला किया। इसके साथ ही महबूबा मुफ्ती सरकार की जमकर आलोचना भी की। इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल भी हुआ, जिसकी क्रिकेटर गौतम गंभीर ने जमकर आलोचना की। गंभीर ने ट्वीट करते हुए लिखा- “मेरे पास एक समाधान है। देश के राजनेताओं के लिए ये आवश्यक होना चाहिए कि वह अपने परिवारों के साथ और बगैर सुरक्षा के कश्मीर के तनावग्रस्त हिस्सों में एक सप्ताह बिताएं। केवल तभी उन्हें 2019 चुनाव लड़ने की इजाजत मिले। सशस्त्र बलों और कश्मीरियों की दशा को समझने का इससे अच्छा कोई और तरीका नहीं है।”

इस हमले के बाद मौके से निकलने की कोशिश में गाड़ी के नीचे आकर तीन लोग कुचले गए, जिनकी बाद में मौत हो गई। बता दें कि घटना ऐसे वक्त में हुई है जब कुछ दिन बाद ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह प्रदेश के दौरे पर आने वाले हैं। इसकी वजह से कश्मीरी युवाओं तक पहुंचने की मोदी सरकार की कोशिशों को झटका लग सकता है। बता दें कि हाल ही में केंद्र सरकार ने ऐलान किया था कि रमजान के महीने में आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों की मुहिम को रोक दिया जाएगा।

एक पुलिस अफसर के मुताबिक, एक सीनियर अधिकारी को उतारने के बाद सीआरपीएफ की गाड़ी वापस लौट रही थी, जो प्रदर्शनकारी लोगों की भीड़ के बीच फंस गई। हालांकि, घटना क्यों और कैसे हुई, इस बात का ठीक-ठीक पता नहीं चल पाया है।

घटना के जो विडियोज फुटेज सामने आई है, उनमें से एक में गाड़ी भीड़ में घिरी नजर आती है। लोग गाड़ी का रास्ता रोकते नजर आते हैं और ड्राइवर वहां से निकलने के लिए जूझते दिखता है। एक अन्य वीडियो में कुछ लोग बेहद नजदीक से गाड़ी पर पत्थर और ईंट फेंकते नजर आते हैं। ये लोग एक घायल शख्स को हटाते भी दिखते हैं। सोशल मीडिया पर गाड़ी के नीचे दबे शख्स की फोटो भी वायरल हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *