फिटनेस चैलेंज का विरोध करने वालों पर वीरेन्द्र सहवाग का तंज- ऐेसे कितने जिम’नास्तिक’ हैं?

वैसे लोग जो ये मानते हैं कि जिम जाने से तंदुरुस्ती हासिल नहीं होती है। उन्हें जिम’नास्तिक’ कहा जाता है। देश में फिटनेस चैलेंज पर चल रही बहस के बीच क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग ने ये बात कही है। बता दें कि खेल मंत्री राज्यवर्धन राठौर द्वारा शुरू किया गया फिटनेस चैलेंज सोशल मीडिया पर वायरल तो हुआ ही। लोग निजी जिंदगी में भी इस चैलेंज को ले रहे हैं और अपनी एक्सरसाइज की फोटो शेयर कर रहे हैं और दूसरों को चैलेंज दे भी रहे हैं। वहीं कांग्रेस, सीपीएम और आरजेडी समेत कई पार्टियां इस फिटनेस चैलेंज के टाइमिंग पर सवाल खड़े कर रही हैं। विपक्षी दलों ने पीएम मोदी को ईंधन की कीमतें कम करने का चैलेंज दिया है, तो किसी ने पीएम को चुनावी वादे पूरा करने का चैलेंज किया है। इसी बीच टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने खेल मंत्री द्वारा दिये गये इस चैलेंज को स्वीकार किया और उन्होंने पीएम मोदी को चैलेंज किया। पीएम ने विराट के चैलेंज को स्वीकार किया है और वह भी जल्द ही अपना वीडियो सोशल मीडिया पर डाल रहे हैं।

इन सब के बीच क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग ने इशारों-इशारों में फिटनेस चैलेंज का विरोध करने वालों को क्लास लगाई है। सहवाग ने एक फोटो ट्विटर पर डाला है। इस पर Gymnastik लिखा हुआ है। इस शब्द की परिभाषा में लिखा है वो शख्स जिसे इस पर यकीन नहीं है कि जिम जाने से किसी की सेहत बुलंद हो सकती है। इसके बाद उन्होंने लिखा है कि ऐसे कितने नास्तिक हैं। सहवाग के इस ट्वीट पर लोगों ने मजेदार प्रतिक्रियाएं दी है। कई लोगों ने कहा है कि मैं भी जिम’नास्तिक’ हूं क्योंकि सेहत सुधारने के लिए घर से बाहर निकलना जरूरी होता है। सिमरन ने कहा, “जब मैं आपके समय के टीम को देखती हूं तो मुझे लगता है कि आप नंबर वन जिमनास्तिक हैं। एक यूजर ने लिखा कि मुझे लगता है कि पिछले कुछ दिनों से सारे मोदी के विरोधी जिमनास्तिक हो गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *