Karnataka Live: येदियुरप्पा सरकार को मिला 28 घंटे का वक्त, सुप्रीम कोर्ट का फैसला- कल कितने बजे करें शक्ति परीक्षण जानें 

Karnataka Election Results 2018 Live Updates: कर्नाटक के सियासी नाटक को लेकर आज (18 मई) को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। कोर्ट ने राज्यपाल वजुभाई का फैसला पलटते हुए कहा कि शनिवार (19 मई) को शाम चार बजे शक्ति परीक्षण कराया जाएगा। फ्लोर टेस्ट में जो भी दल बहुमत साबित करने में सफल रहेगा, सरकार उसी की बनेगी। सुनवाई के दौरान भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की ओर से मुकुल रोहातगी वकील थे, जबकि कांग्रेस का पक्ष अभिषेक मनु सिंघवी ने रखा। सुनवाई के बाद येदियुरप्पा ने कहा है, “मैं सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करूंगा और बहुमत टेस्ट में होकर दिखाऊंगा।”

हालांकि, रोहातगी शनिवार को होने वाले फ्लोर टेस्ट के पक्ष में नहीं थे। वह चाहते थे कि शक्ति परीक्षण सोमवार को हो। वहीं, सिंघवी कल शक्ति परीक्षण कराने के लिए तैयार थे। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस तैयार है। लेकिन येदियुरप्पा के पास तो संख्या ही नहीं है। वह कैसे दावा कर रहे हैं? रोहातगी ने इससे पहले कोर्ट को येदियुरप्पा की चिट्ठी सौंपी थी, जो उन्होंने राज्यपाल वजुभाई वाला को दी थी।
आपको बता दें कि यह सुनवाई कांग्रेस-जेडीएस की याचिका पर हुई, जिसमें दोनों पार्टियों ने राज्यपाल वजुभाई वाला के फैसले को चुनौती दी थी। दोनों पार्टियों का इसमें कहना था कि राज्यपाल ने 104 सीटें होने के बाद भी बीजेपी को सरकार बनाने के लिए निमंत्रण भेजा, जबकि सरकार में बहुमत के लिए 112 सीटें चाहिए थीं। आपको बता दें कि कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार बन चुकी है।
याद दिला दें कि गुरुवार (17 मई) को बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। लेकिन विधानसभा में बहुमत साबित करने को लेकर अभी भी प्रयास बरकरार हैं। राज्य में गुरुवार को इसी के चलते राजनीतिक उलटफेर होते रहे। देर रात कांग्रेस के विधायक बेंगलुरू स्थित रिजॉर्ट से हैदराबाद के लिए रवाना हुए, जबकि पार्टी के दो विधायक अभी भी लापता हैं। वहीं, कांग्रेसी एमएलए यशोमती ठाकुर ने दावा किया था कि विधायकों को धमकी भरे फोन आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *