IPL 2018: प्लेऑफ में पहुंचने की कगार पर ये टीमें, मगर दिल्ली-बैंगलोर बिगाड़ सकता है खेल

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) सीजन-11 में अब तक 60 में से 41 मुकाबले खेले जा चुके हैं। प्लेऑफ की शुरुआत 22 मई से होने जा रही है। सनराइजर्स हैदराबाद 16, जबकि चेन्नई सुपर किंग्स 14 प्वाइंट्स के साथ अंकतालिका में क्रमश: पहले और दूसरे पायदान पर है। हैदराबाद ने 10 में से 8 मैच जीते हैं, जबकि चेन्नई इतने ही मैचों में से 7 में बाजी मार चुका है, जिसके चलते इन दोनों टीमों का प्लेऑफ में स्थान लगभग तय है। वहीं पंजाब 10 में से 6 मैच जीतकर तीसरे स्थान पर अपनी स्थिति मजबूत किए हुए हैं। अब ऐसी स्थिति में मुंबई इंडियंस, कोलकाता नाइट राइडर्स और राजस्थान रॉयल्स का मामला काफी हद तक फंस चुका है।

दिल्ली डेयरडेविल्स (8वें पायदान) और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (7वें पायदान) का प्लेऑफ से बाहर होना लगभग तय ही है लेकिन ऐसे में ये टीमें मुंबई, केकेआर और राजस्थान की राह में रोड़ा बन सकते हैं, आइए जानते हैं कैसे…
मुंबई इंडियंस (+0.529) : ये टीम प्वाइंट्स टेबल में 11 में से 5 मैच जीतकर चौथे स्थान पर है। मुंबई ने अपने अगले मैच राजस्थान, दिल्ली और पंजाब के खिलाफ खेलने हैं। राजस्थान खुद प्लेऑफ की जंग में है। वहीं पंजाब अपना स्थान मजबूत करने की पुरजोर कोशिश करेगा। ऐसे में इस सीजन की सबसे फिसड्डी टीम दिल्ली अगर मुंबई को हरा देती है, तो केकेआर या फिर राजस्थान में से कोई एक टीम मुंबई से मौका छीन सकती है।
कोलकाता नाइट राइडर्स (-0.359): केकेआर ने 11 में से 5 मुकाबले जीते हैं, जो ठीक मुंबई के ही बराबर हैं। इस टीम ने अपने अगले मैच पंजाब, राजस्थान और हैदराबाद से खेलने हैं। पंजाब की तरफ से अगर गेल चले, तो वो अकेले दम पर मैच जिताने का माद्दा रखते हैं। वहीं हैदराबाद की टीम टॉप पर है और उसके गेंदबाजों के सामने टिकना विपक्षी टीमों के लिए बेहद कठिन है।

राजस्थान रॉयल्स (-0.552): राजस्थान ने अभी तक 10 मैच खेले हैं, जिसमें उसे 6 में हार और 4 में जीत मिली है। राजस्थान इस वक्त मुंबई और केकेआर से एक मैच कम जीता है लेकिन गौर करने वाली बात ये है कि ये दोनों ही टीमें राजस्थान से 1-1 मैच ज्यादा खेल चुकी हैं। राजस्थान ने अपने अगले मैच चेन्नई, मुंबई, केकेआर और आरसीबी के खिलाफ खेलने हैं। सातवें पायदान पर मौजूद आरसीबी की प्लेऑफ की उम्मीदें लगभग समाप्त हैं। अगर ऐसे में ये टीम राजस्थान को हराती है, तो मामला फंस सकता है। वहीं चेन्नई बेहद मजबूत टीम है और केकेआर-मुंबई खुद प्लेऑफ की जद्दोजहद में है और वो आगे के कोई भी मैच गंवाना नहीं चाहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *