अखिलेश यादव का खुलासा- योगी आदित्यनाथ से सीखी हैं बस ये दो चीजें

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार (10 मी, 2018) को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि उन्होंने राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ से दो बाती सीखी हैं। उन्होंने कहा, ‘योगी ने बताया कि अगर आप व्रत रखते हैं तो बूंदी के लड्डू खा सकते हैं। हमें यह भी नहीं पता था कि पवन पुत्र हनुमान कहां पैदा हुए। अब योगी जी ने बताया है कि हनुमान कर्नाटक में पैदा हुए है। मैं खुद पढ़ाई के दौरान चार-पांच साल कर्नाटक रहा लेकिन कभी इस बात की जानकारी नहीं हासिल कर सका कि हनुमान कर्नाटक में पैदा हुए। मुझे सिर्फ इतना पता था कि बेंगलुरु से मैसूर के बीच रामनगर पड़ता है और यह वही रामनगर था जहां शोले की शूटिंग हुई, गब्बर वाली शोले की शूटिंग। मगर हनुमान के बारे में कभी नहीं सुना की वो कर्नाटक में पैदा हुए।’

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पूर्व सीएम अखिलेश ने राज्य की भाजपा सरकार और मुख्यमंत्री योगी की नीतियों पर भी सवाल उठाए। उन्होंने भीम आर्मी सहारनपुर अध्यक्ष कमल वालिया के भाई सचिन वाली हत्या मामले में प्रदेश सरकार पर सवाल उठाए। अखिलेश ने कहा कि पूरे राज्य में पुलिस के जरिए भाजपा भय का माहौल बना रही है। एनकाउंटर वाली सरकार दावा करती है कि इससे यूपी का कानून बेहतर होगा। अखिलेश ने कहा कि सपा के अलावा तमाम विपक्षियों पार्टियों ने यूपी में फर्जी एनकाउंटर पर सवाल उठाए हैं। अखिलेश ने कहा, ‘मैं पहले भी कह चुका कि इस जिन बदमाशों पर इनाम घोषित है उनकी सूची बाहर आनी चाहिए। ताकि जनता जाने। असल में होता यह है कि पहले एनकाउंटर कर दिया और फिर उसपर इनाम घोषित कर दिया। इसमें सरकार पूरी मदद कर रही थी। उन्नाव की घटना में पीड़िता के पिता की जान ले ली।’ अखिलेश ने आरोप लगाया कि फर्जी एनकाउंटर मामले में मानवाधिकार आयोग ने कई बार सरकार को नोटिस भेजा है। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ।
सपा प्रमुख ने आरोप यह भी लगाया कि भाजपा के ही लोग तय करते हैं कि न्याय किसने मिलेगा, किसे नहीं मिलेगा। पुलिस किसे न्याय देगी यह भाजपा तय करती है। अखिलेश कहा कि हम पर आरोप लगे कि हम मुस्लिमों की मदद करते हैं। मगर भाजपा हिंदू की मदद कब करेगी। हम पहले भी मांग कर चुके है जिन लोगों की जान गई है उनके परिवार की पचास लाख रुपए मदद करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *