बेंगलुरु के फ्लैट में मिले सैकड़ों वोटर आईडी कार्ड, आयोग ने कहा- रद नहीं होगा चुनाव


कर्नाटक में विधानसभा चुनाव से पहले एक फ्लैट से हजारों वोटर आईडी कार्ड मिलने से हड़कंप मच गया है। मंगलवार (8 मई) को बेंगलुरु के जलाहाल्ली इलाके में स्थित एक फ्लैट से 9,746 वोटर आईडी कार्ड मिले। सभी आईडी कार्ड को छोटे बंडलों में बांधकर रखा गया था। हर बंडल पर फोन नंबर और नाम लिखा हुआ था। यह इलाका राज राजेश्वरी निवार्चन क्षेत्र में पड़ता है। खास बात यह है कि खुद चुनाव आयोग की टीम ने इस फ्लैट से यह वोटर आईडी कार्ड बरामद किये हैं। आयोग ने इस मामले में एफआईआर भी दर्ज कराया है और इस मामले की जांच भी शुरू हो गई है।
बेंगलुरु में चुनाव आय़ोग के मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजीव कुमार ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात की जानकारी दी। संजीव कुमार ने बतलाया कि इस फ्लैट से पांच लैपटॉप और प्रिंटर भी मिले हैं। उन्होंने कहा कि बरामद किेये गये सभी वोटर आईडी कार्ड असली हैं। बताया जा रहा है कि पार्क व्यू अपार्टमेंट में यह फ्लैट स्थित है। यह फ्लैट मंजुला नानजामरी का है। रंगराजू नाम के एक शख्स ने इस फ्लैट को किराये पर ले रखा था।

इधर इस मामले पर कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एक दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। भाजपा की तरफ से कहा गया है कि राज राजेश्वरी में कांग्रेस प्रत्याशी ने 15 हजार फर्जी वोटर आईडी कार्ड बनाए हैं। बीजेपी ने राज राजेश्वरी में चुनाव भी रद्द कराए जाने की मांग की है। हालांकि चुनाव आयोग ने कहा है कि इस निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव रद्द नहीं कराए जाएंगे। भाजपा नेता सदानंद गौड़ा ने आरोप लगाया है कि राज राजेश्वरी नगर से कांग्रेस के उम्मीदवार मुनिरत्न नायडू का इसमे हाथ है।
इधर कांग्रेस की तरफ से भी पलटवार किया गया है। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि जिस फ्लैट से वोटर आईडी कार्ड मिला है वो मंजुला नंजामुरी का है जो भाजपा की नेता हैं। जबकि घऱ में रहने वाले किराएदार उनका बेटा है। कांग्रेस का कहना है कि राकेश ने साल 2015 में बीजेपी के टिकट पर निगम का चुनाव भी लड़ा था। बता दें कि कर्नाटक में 12 मई को विधानसभा चुनाव होने हैं जबकि नतीजे 15 मई को घोषित किये जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *