देश  के 51 शक्तिपीठों में शामिल आदि शक्ति पीठ देवीपाटन मंदिर का इतिहास पौराणिक है

 बलरामपुर से जिला संवाददाता अभिषेक गुप्ता की रिपोर्ट

देश-विदेशो के इक्कावन शक्तिपीठो मे शमिल आदिशक्ति पीठ  देवीपाटन मंन्दिर का इतिहास पौराणिक है। देवीपुराणो के अनुसार देवीपाटन मंन्दिर मै माता सती का बाम स्कन्ध पट सहित गिरा था। यहीं पर माता सीता ने पाताल गमन किया था। देवीपाटन मै ही सूर्य पुत्र करण ने भगवान परशुराम से शस्त्र विद्या की दीक्षा ली थी। यही पर महायोगी गुरू गोरक्षनाथ ने भी साधना और उपासना की थी। हर चैत्र नवरात्र पर मां पाटेश्वरी के परम भक्त पीर रतननाथ के पात्र देवता की भी पूजा अर्चना की जाती हैं। साथ ही एक माह तक मेले का भी आयोजन किया जाता है। मन्दिर और भक्तो की सुरक्षा व्यवस्था के लिए मन्दिर प्रशासन ने सीसीटीवी कैमरों से निगरानी की तैयारी की है। प्रदेश सरकार ने भी सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस प्रशासन को जिम्मेदारी सौंपी गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *