बालों की समस्या से हैं परेशान? किचन में रखे प्याज हैं समाधान

Spread the love

अपने बालों की देखभाल करना सभी को  अच्छा लगता है, महिलाएं इसके लिए कई तरह के नुस्खे भी आजमाती रहती हैं. ज्यादातर लोग इसके लिए घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करना ही पसंद करते हैं. क्योंकि बाहरी चीजों पर हर कोई आसानी से भरोसा नहीं कर पाता है. इसीलिए नेचुरल थेरेपी को ही ज्यादा तवज्जो दी जाती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके बालों की देखभाल आपके किचन में मौजूद प्याज से हो सकती है. जी हां सिर्फ प्याज का इस्तेमाल करके आप अपने बालों की मजबूती और शाइन को वापस ला सकते हैं. इसके लिए बस आपको कुछ छोटी मोटी चीजें हीं करनी होंगी. हम यहां आपको बता रहे हैं कैसे प्याज की मदद से आप अपने बालों की देखभाल कर सकते हैं.

स्टेप 1: सबसे पहले आपको कुछ प्याज लेकर उनके बाहरी छिलके निकालने होंगे और इन्हें छोटे टुकड़ों में काटना होगा.

स्टेप 2: कटे हुए प्याज के टुकड़ों को ब्लेंडर में रखकर अच्छी तरह से ब्लेंड कर लें, जब तक यह अच्छी तरह से न पिस जाएं.

स्टेप 3: इसके बाद इस पिसे हुए पेस्ट को एक कपड़े में रखकर इसका पूरा पानी निकाल दें. पेस्ट का सारी पानी किसी बर्तन में इकट्ठा कर लें.

स्टेप 4: प्याज के पेस्ट से निकले हुए इस पानी को अपने हेयर ऑयल के साथ मिस्क कर लें. जो भी हेयर ऑयल आप इस्तेमाल करते हैं उसके साथ इस रस को मिला सकते हैं.

स्टेप 5: इसके बाद तेल और प्याज के रस के इस मिश्रण को अपने बालों की जड़ों में लगाना शुरू करें. धीरे-धीरे पूरे सिर पर इसकी मालिश करें.

स्टेप 6:  इस मिश्रण को बालों पर अच्छी तरह से लगाने के 35-40 मिनट बाद शैंपू से बाल धो लें. इस पूरे प्रोसेस को हफ्ते में कम से कम दो बार करें. कुछ ही हफ्तों बाद आपको इसका रिजल्ट दिखना शुरू हो जाएगा.

प्याज का रस सिर्फ बालों को तेजी से उगाने और उनकी मजबूती कामयाब रखने के लिए ही नहीं बल्कि और भी कई तरह से फायदेमंद होता है. प्याज को पोटेशियम, विटामिन ए,सी और ई का एक अच्छा स्रोत माना जाता है, इसीलिए यह बालों को दोबारा उगने में काफी कारगर होता है और केमिकल ट्रीटमेंट के इस्तेमाल से हुए नुकसान से भी बचाता है. यह एक नेचुरल ऑक्सिडेंट है, जो बालों को शाइनी रखने में मदद करता है. तो आप भी इस आसान तरीके का इस्तेमाल करके अपने बालों को हेल्दी और घने बना सकते हैं.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *